Uploader: George
Country: Hong Kong SAR, China
Uploaded: Jun 19, 2018
Price: Free

Please, verify you are not robot to load rest of pages

rajasthan rent control act 2001 - pdf download

1
2017 का विधेयक सं.2
राजस्थान ककराया ननयंत्रण (संशोधन) विधेयक, 2017
(जैसाकक राजस्थान विधान स ा ं प ररः ्स्थावरक ककया जाये)ा)
राजस्‍थान‍किराया‍ननयंत्रण‍अधिननयम,‍2001‍िो‍और‍संशोधित‍
िरने‍िे‍लिए‍वििेयि।

भारत‍ गणराज्‍
य‍ िे‍ अड़सठिें ‍ िर्ष‍ में ‍ राजस्‍थान‍ राज्‍य‍ वििानमण्‍
डि‍नन्‍‍नलिितत‍अधिननयम‍ननाता‍ै: -‍
1. संक्षिप्क नां रर प्रारम् .- (1)‍ इस‍ अधिननयम‍ िा‍ नाम‍
राजस्‍थान‍किराया‍ननयंत्रण‍(संशोिन)‍अधिननयम,‍2017‍ै: ।‍
(2)‍यै‍तरु न्‍
त‍प्रित्त
ृ ‍ैोगा।
2. 2003 के राजस्थान िनधननयं सं. 1 कध धारा 2 का
संशोधन.- राजस्‍थान‍ किराया‍ ननयंत्रण‍ अधिननयम,‍ 2001‍ (2003‍ िा‍
अधिननयम‍सं.‍ 1),‍ जजसे‍ इसमें ‍ आगे‍ मि
ू ‍ अधिननयम‍ िैा‍ गया‍ ै: ,‍ िी‍
िारा‍2‍में ,(i)‍ तण्‍ड‍ (ङ)‍ में ‍ आयी‍ अलभव्‍यजतत‍ ''1959‍ (1959‍ िा‍
अधिननयम‍ सं.‍ 38)''‍ िे‍ स्‍थान‍ र‍ अलभव्‍यजतत‍ ''2009‍
(2009‍ िा‍ अधिननयम‍ सं.‍ 18)''‍ प्रनतस्‍थाव त‍िी‍जायेगी;‍
और‍
(ii)‍विद्यमान‍तण्‍
ड‍())‍िे‍ ्‍‍)ात औ‍और‍विद्यमान‍तण्‍ड‍())‍
से‍
ि
नलिितत‍ नया‍ तण्‍ड‍ अन्‍त स्‍थाव त‍ किया‍
ू ‍ष नन्‍‍
जायेगा,‍अथाषत औ -‍
''()ि)‍ ''किराया‍ प्राधििारी''‍ से‍ िारा‍ 22-ि‍ िे‍ अिीन‍
ननयत
त‍अधििारी‍अलभप्रेत‍ै: ;''।‍‍
ु ‍
3. 2003 के राजस्थान िनधननयं सं. 1 कध धारा 3 का
संशोधन.- मि
ू ‍अधिननयम‍िी‍िारा‍3‍में ‍ विद्यमान‍तण्‍ड‍(i),‍(ii)‍और‍
(iii)‍ैटाये‍जायेंगे।‍
2
4. 2003 के राजस्थान िनधननयं सं. 1 कध धारा क का
संशोधन.- मि
टीिरण‍में‍
ू ‍अधिननयम‍ िी‍िारा‍ 9‍िे‍तण्‍ड‍(ि)‍िे‍स्‍ ष्‍
विद्यमान‍ अलभव्‍यजतत‍ ''दिया‍ गया‍ ैो''‍ िे‍ ्‍‍)ात औ‍ और‍ अन्‍त‍ में ‍ आयी‍
विद्यमान‍अलभव्‍
यजतत‍'';‍या''‍से‍ ि
ू ,ष ‍अलभव्‍यजतत‍''या‍किराया‍प्राधििारी‍
िो‍जमा‍िरा‍दिया‍गया‍ैो''‍अन्‍त स्‍थाव त‍िी‍जायेगी।‍
5. 2003 के राजस्थान िनधननयं सं. 1 ं प धारा 1क-क का
िन्क:सस्थारन.- मि
)ात औ‍और‍
ू ‍अधिननयम‍िी‍विद्यमान‍िारा‍19‍िे‍ ्‍‍
विद्यमान‍ िारा‍ 20‍ से‍ ि
नलिितत‍ नयी‍ िारा‍ अन्‍त स्‍
थाव त‍ िी‍
ू ,ष ‍ नन्‍‍
जायेगी,‍अथाषत औ -‍‍
''1क-क. िजी या िरील के लम्म्िक रहने के दौरान
ककराया रर उसके िकाया के संदाय का आदे श दे ने कध
िनधकरण कध शम्तक.- अधििरण,‍भ-ू स्‍िामी‍िे‍आिेिन‍ र,‍
अजी‍ या,‍ यथाजस्थनत,‍ अ ीि‍ र‍ क्षिारों‍ िो‍ सन
ु ने‍ िे‍
्‍‍
)ात औ‍ आिे श‍ िे गा‍ कि‍ किरायेिार,‍ भ-ू स्‍िामी‍ िो‍ किराये‍ िे‍
मद्िे‍ समस्‍त‍िे यतांं‍ िा‍ तत्‍िाि‍ संिाय‍ िरे गा‍और‍ अजी‍
या,‍यथाजस्थनत,‍अ ीि‍िे‍िज्‍नत‍रैने‍ िे‍िौरान‍जन‍और‍
ज:से‍ैी‍यै‍िे य‍ैो,‍किराये‍िा‍संिाय‍जारी‍रतेगा।''।‍‍‍
6. 2003 के राजस्थान िनधननयं सं. 1 ं प नयी धारा 21-क
का िन्क:सस्थारन.- मि
)ात औ‍
ू ‍ अधिननयम‍ िी‍ विद्यमान‍ िारा‍ 21‍ िे‍ ्‍‍
और‍विद्यमान‍िारा‍22‍से‍ ि
नलिितत‍नयी‍िारा‍अन्‍त स्‍थाव त‍
ू ,ष ‍नन्‍‍
िी‍जायेगी,‍अथाषत औ -‍‍
''21-क. ककराया प्रानधकारी कध प्रकिया रर शम्तक.किराया‍प्राधििारी‍िो‍प्रस्‍
तत
ु ‍िी‍गयी‍अजजषयों‍या‍आिेिनों,‍
िो‍ग्रैण‍िरने,‍ उनिी‍ सन
)य‍िरते‍ समय‍
ु िाई‍और‍विनन्‍‍
या‍िी‍गयी‍स)
ं ‍में ,‍किराया‍प्राधििारी‍िे‍संनि
ं ‍
ू ना‍िे‍संनि
में ,‍ किराया‍ अधििरण‍ िी‍ प्रकिया‍ और‍ शजततयों‍ िे‍ नारे ‍ में‍
िारा‍ 21‍ में ‍ अंतविषष्ट
‍ ‍ उ नंि,‍ यथाि्‍‍
यि‍ िरितषनों‍ सदैत,‍
3
उसी‍ भांनत‍ िाग‍ू ैोंगे‍ मानो‍ शब्‍ि‍ ''किराया‍अधििरण'',‍ जैां‍
िैीं‍ भी‍ उसमें ‍ आये‍ ैों,‍ िे‍ स्‍थान‍
र‍ शब्‍
ि‍ ''किराया‍
प्राधििारी''‍प्रनतस्‍
थाव त‍िर‍दिये‍गये‍ैों।''।
7. 2003 के राजस्थान िनधननयं सं. 1 ं प नये िध्याय 5-क
रर 5-ख का िन्क:सस्थारन.- मि
ू ‍ अधिननयम‍ में ,‍ विद्यमान‍ अध्‍याय-5‍
िे‍ ्‍‍)ात औ‍और‍विद्यमान‍अध्‍